patna-boat-tragedy

बिहार के घटना का सच!!!!!!!!!

125

यह मैसेज काफी वायरल हो रहा है whatsapp ग्रुप में ….  बिहार के घटना का सच से आप परिचित हो
दिन में बड़ा जहाज से गंगा पार सबको ले जाया गया। वापस आते समय बड़ा जहाज की सुविधा बंद कर दी गयी। क्योकि उसका उपयोग आला अधिकारी और नेता करने लगे।




घटना NIT घाट के नजदीक हुई। अगर NDRF की टीम प्रयाप्त मात्रा में होती तो उसे समय से बचा लिया जाता।

घटना के 2 घंटे बाद राहत बचाव आरंभ हुई।

लाश को ले जाने के लिए ambulance नही थी। जबकि PMCH बगल में है।

किसी भी नाव में ट्यूब या जैकेट नही थी ।

भीड़ सरकार द्वारा प्रचार प्रसार से बढ़ी थी। लेकिन सुबिधा के नाम पे कुछ नही।

पुलिस कर्मी प्रकाश उत्सव के बाद छुटि में है।

इतना बड़ा महोत्सव के बाद बस गिने चुने सुरक्षा कर्मी था।

महोत्सव का आयोजन गंगा पार उचित्त कदम नही है।

शाम हो जाने के बाद भी लोग गंगा पार फॅसे थे।लोगो ने आने में जल्दबाजी की । एक नाव पे क्षमता से अधिक लोग सवार हो गए।

विहार सरकार के लिए लोगो का संदेश

सिख समुदाय के धर्म पर लाखों करोड़ खर्च कर दिए। हर तरह की सुविधा दी गयी। हजारो पुलिस कर्मी तैयार की गयी। पूरा पटना चमकाया गया।

मुस्लिम के ईद में गांधी मैदान में नवाज पढ़ने के लिए व्यवस्था की जाती है। आप तमाम नेता इख्तियार पार्टी में जाते हो।

बोद्ध धर्म के लिए पूरा गया जिला में सुरक्षा व्यवस्था होती है।




हम हिन्दू को क्या मिला। दशहरा में गांधी मैदान के भगदड़ में हम मरे। छठ के भगदड़ में हम मरे। मकर संक्रांति केें नाव हादसा में हम मरे। तुम बस हमे जाती के नाम पर बाँट दो और हम पे राज करो। फिर भी हम गर्व से कहेंगे हमारा सरकार अच्छा है।

इस massage को सभी बिहारी को भेजो ताकि सरकार की असलियत पता चले।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *